शिकसा छुपे प्रतिभा निखारने को मंच दे रहा है- डाॅ.अंकुश।

दुर्ग :- अकादमी छत्तीसगढ़ दुर्ग के द्वारा शिक्षक व छात्रों के लेखन सांस्कृतिक क्षमता को निखारने हेतु मंच प्रदान करने शिकसा संगीत संध्या का आयोजन संयोजक डॉ. शिवनारायण देवांगन “आस” के संयोजन, कार्यक्रम प्रभारी संजय कुमार मैथिल के उपस्थिति व डाॅ.अंकुश देवांगन सदस्य ललित कला अकादमी दिल्ली के आतिथ्य में संपन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना- पी.पुष्पाजंली कक्षा 12वीं जंजगिरी चरोदा दुर्ग व राजगीत संध्या पाठक सहायक शिक्षक सेक्टर 04 भिलाई ने प्रस्तुत कर किये। सर्वप्रथम संयोजक डाॅ.शिवनारायण देवांगन “आस” ‘ने कार्यक्रम पर प्रकाश डाला।‌ प्रातांध्यक्ष कौशलेन्द्र पटेल ने निरंतर कार्यक्रम करते रहने के लिये संयोजक देवांगन का तारीफ करते हुए बधाई दिया। साथ ही प्रातांध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ नीता त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष बोधीराम साहू, सलाहकार टीकाराम सारथी महासचिव जांजगीर राधेश्याम कंवर, आदि ने भी अपना विचार प्रगट किया। कार्यक्रम के अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष होरीलाल चतुर्वेदी ने स्वागत उदबोधन प्रस्तुत किया वही महासचिव संगीता चन्द्राकर व महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष संध्या पाठक व सुनीता जर्नादन ने अपना अपना विचार रखे। मुख्य अतिथि डॉ.अंकुश देवांगन ने शिकसा संस्था के विस्तार को बड़ी उपलब्धि बताये वही निरंतर छुपे प्रतिभा को निखार रहे है मंच प्रदान कर रहे है इसके लिए पूरे टीम को बधाई दिया वही गीत सुनाकर सबका मन मोहित किया। कार्यक्रम में देवेंद्र कुमार बंछोर व्याख्याता सिरसा कला पाटन जिला दुर्ग, शिवकुमार निर्मलकर शिक्षक नारधा दुर्ग, उषा भट्ट व्याख्याता जंजगिरी दुर्ग, दर्शना सावड़े व्याख्याता जंजगिरी चरोदा, मोना रावत सहा. शिक्षक बनगांव बालोद, डाॅ. ज्योति किरण चन्द्राकर व्याख्याता महासमुंद, सपना दुबे शिक्षक उरदना रायगढ़, डाॅ. तुलेश्वरी धुरंधर सहा. शिक्षक मुढ़ीपार बलौदाबाजार, नमिता गोपाल शिक्षक पेण्ड्री जांजगीर, सविता जायसवाल शिक्षक कोरबा आदि ने गीत प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन संजय कुमार मैथिल संयुक्त सचिव व आभार प्रदर्शन डॉ.शिवनारायण देवांगन “आस” संयोजक ने किया।